सैद्धांतिक कथन

सैद्धांतिक कथन

जीआरएन ने वर्ल्ड इ्वैन्जैलिकल एलायंस का विश्वास कथन अपनाया है. इससे हम अपनी पहचान सारे विश्व में जानी पहचानी और आदर प्राप्त, तथा लगभग सारे संसार के देशों के सुसमाचार प्रचार में लगे समूहों के लोगों का प्रतिनिधित्व करने वाली संस्था के साथ बनाते हैं.

हमारा विश्वास

...है पवित्र शास्त्र पर जैसा परमेश्वर ने मूल रूप में दिया, जो ईश्वरीय प्रेरणा से लिखा गया, अचूक, और पूर्णतः विश्वासयोग्य है; तथा विश्वास एवं व्यवहार की सभी बातों के लिए सर्वोच्च अधिकार रखता है...

एक परमेश्वर पर, अनंत से जिसका अस्तित्व तीन व्यक्तियों पिता, पुत्र, और पवित्र आत्मा में है...

हमारे प्रभु यीशु मसीह, देहधारी परमेश्वर पर, उसके कुंवारी से जन्म लेने, उसके पापरहित मानव जीवन, उसके ईश्वरीय आश्चर्यकर्मों, उसके प्रत्यधिकृत प्रायश्चित मृत्यु, उसके शारीरिक पुनरुत्थान, उसके स्वर्गारोहण, उसके मध्यस्थ के कार्य, और उसके सामर्थ तथा महिमा के साथ वापस आने पर...

कर्मों के बिना, केवल विश्वास द्वारा पाप में खोये हुए मनुष्यों के उद्धारपर जो प्रभु यीशु के बहाए गए लहु द्वारा और पवित्र आत्मा से पुनर्जन्म से है...

पवित्र आत्मा पर, विश्वासी के अन्दर जिसके निवास करने से विश्वासी को पवित्र जीवन जीने, मसीह यीशु के लिए कार्य करने और उसकी गवाही देने की सामर्थ मिलाती है...

सभी सच्चे विश्वासियों में आत्मा की एकता पर, कलीसिया पर, जो मसीह की देह है...

बचे हुए और नहीं बचे हुए दोनों के पुनरुत्थान पर; जो बचे हैं वे जीवन के पुनरुत्थान के लिए, जो नहीं बचे हैं वे विनाश के पुनरुत्थान के लिए.

संबंधित जानकारी

रिकॉर्डिंग कार्यनीति - जीआरएन मिशनरी रिकॉर्डईस्ट को ट्रेनिंग देता हे साथ ही उन्हें संसार के हर देश में तैनात करता है- न कोई ऐसी भाषा है जो जीआरएन के लिए मुश्किल है , और न कोई ऐसा गाँव है जहा जीआरएन पहुँच नहीं सकता, प्रभु यीशु मसीह के नाम से हम हर जगह और हर भाषा में आपके लिए उपलब्ध हैं।.

जीआरएन के बारे में - जीआरएन बाइबल की ऑडियो रिकॉर्डिंग्स 6347 भाषाओं में संसार के उन भाषा समूहों के लिए करता है जहाँ सुसमाचार की पहुँच सबसे कम रही है

हमारा दर्शन और उद्देश्य - ग्लोबल रिकॉर्डिंग नेटवर्क का उद्देश्य है प्रत्येक जाति, भाषा और राष्ट्र को सुसमाचार उपलब्ध कराना.

Policies and Guidelines - The guiding principles, doctrines and policies under which GRN functions.