आर्थिक नीति

आर्थिक नीति

जीआरएन की यह इच्छा है कि प्रत्येक आर्थिक विषय में भी प्रभु की महिमा हो, आर्थिक सहायता के मिलने और उस निधि के प्रबंधन तथा प्रयोग में भी. हम वास्तव में यह विश्वास करते हैं, कि एक प्रार्थना में लगा रहने वाला हृदय परमेश्वर को प्रीय है. साथ ही ईमान्दारी और धन के प्रयोग में जवाबदेही भी इतनी ही महत्वपूर्ण है.

जीआरएन यह मानता है कि परमेश्वर ने अपना कार्य हमें सौंपने के साथ ही उसकी संपूर्ण आर्थिक ज़िम्मेदारी भी ली है, और वह ही हमारी प्रत्येक आवश्यकता की पूर्ति का स्त्रोत है. हमारी ज़िम्मेदारी है कि हम उसकी इच्छा को ढूंढें और उसकी इच्छा के अनुरूप होकर प्रार्थना करें तथा आनन्द और विश्वास के साथ उसके उत्तर की प्रतीक्षा करें और वह अपनी इच्छा के पूरे किए जाने के लिए आवश्यक पूंजि उपलब्ध करवाएगा.

जीआरएन यह पहचानता है कि परमेश्वर के लोग ही सामान्यतः कार्य के लिए आवश्यक धन उपलब्ध कराने के माध्यम होते हैं. इसलिए हमारी यह भी ज़िम्मेदारी है कि हम लोगों से लेख, मुलाकात और व्यक्तिगत संपर्क द्वारा इस सेवकाई की उपयुक्त जानकारी उन्हें प्रदान करें जिससे वे स्पष्ट यह जान सकें कि वे इस सेवकाई में कैसे संभागी हो सकते हैं.

हम बिना आग्रह के भी जानकारी उपलब्ध कराते हैं.

जीआरएन सामग्री अकसर कीमत से कम दाम पर बेची जाती है, और कभी कभी अनुदान भी उपलब्ध होते हैं. हम नहीं चाहते कि आर्थिक सीमा के कारण कोई सुसमाचार प्राप्त करने से वंचित रह जाए.

संबंधित जानकारी

और अधिक जानकारी प्राप्त करें